विकास की बाट जोह रहीं विरासत

गोवर्धन: जो बृज बसुंधरा में भगवान की क्रीड़ा स्थली को प्रमाणित करते हैं, आज उन्हीं का अस्तित्व खतरे में नजर आता है। उन तक पहुंचने के लिए न सुगम रास्ते हैं और न ही हिफाजत हो रही है। स्थिति ये है कि प्राचीन कुण्डों का पानी आचमन योग्य नहीं है। पौराणिक चिन्हों को नहीं बचाया गया तो बृज बसुंधरा से पौराणिक महत्व की चीजें लोप हो सकती … [आगे पढ़ें...]