संगीतज्ञों के हुनर से झंकृत हुई बांकेबिहारी की धरती

जागरण संवाददाता, मथुरा (वृंदावन): धु्रपद के जनक स्वामी हरिदास के आविर्भाव पर मशहूर संगीतज्ञों ने अपनी साधना से बांकेबिहारी की धरती को झंकृत कर दिया। संगीत के इस महासंगम में सितार और सीयलो की जुगलबंदी से संगीत प्रेमी झूमे। कलाकारों की कथक प्रस्तुति और अभिनय नृत्य ने दर्शकों को बार-बार तालियां बजाने पर मजबूर कर दिया। फोगला आश्रम में … [आगे पढ़ें...]

सुर लय और ताल के संगम में झूमे श्रोता

वृंदावन,2014.09.03(VT) स्वामी हरिदास को अपने सुरों के माध्यम से भावाजलि देने वाले कलाकारों ने वृन्दावन में अपने सुल, लय ताल के से ऐसा समा बाधा कि सब उसमें डूब गये। सुर लय और ताल के संगम से झंकृत मंच दर्शकों से खचाखच भरा पंडाल सभी एकटक शास्त्रीय संगीत में खो जाने को बेकरार। बेहतरीन प्रस्तुतियों का समां कुछ ऐसा कि सोमवार देर रात तक लोग अपने … [आगे पढ़ें...]

संगीत शिरोमणि रसिक स्वामी हरिदास

    वृन्दावन टुडे,2014.09.01(वीटी) :स्वामी हरिदास जितने रसिक भक्त थे उतने ही महान संगीतकार भी थै। उन्हे सर्वाधिक ख्याति संगीत के क्षेत्र में मिली। संगीतज्ञों के दो वर्ग होते है- एक वह जो संगीत को साधन मानकर इसकी सहायता से भैतिक सुखों की अनुभूति करते है, दूसरा वह जो संगीत को साध्य मानकर इसके द्वारा अपने आराध्य से … [आगे पढ़ें...]

संगीत शिरोमणि स्वामी हरिदास ध्रुपद शैली के प्रर्वतक

वृन्दावन टुडे,2014.08.22 गोपाल शरण शर्माः श्रीधाम वृन्दावन में अनेक साधकों ने  अपनी अपनी विभिन्न साधना पद्धतियों से अपने उपास्य की आराधना की हैं। वृन्दावन रसिको की भूमि है यह भूमि अनेक संतों की रसमयी उपासना का केन्द्र रही है। यहां की पावन भूमि में उन संतों ने अपने आराध्य को अनेक प्रकार से लाड लडाया है। ऐसे ही एक रसिक संत स्वामी हरिदास जी … [आगे पढ़ें...]

स्वामी हरिदास संगीत सम्मेलन 30 व 31 को

वृंदावन,2014.08.03(DJ) : श्रीराधाकृष्ण प्राकट्योत्सव एवं स्वामी हरिदास संगीत सम्मेलन 30 व 31 अगस्त को ठा. श्रीराधा सनेह बिहारी सभागार में आयोजित किया जाएगा। सम्मेलन में संगीत कला रत्‍‌न सम्मान समारोह भी होगा। इसमें देशभर के पद्मश्री और पद्मभूषण प्राप्त कलाकार भाग ले रहे हैं। स्वामी हरिदास संगीत समारोह समिति के अध्यक्ष आचार्य अतुलकृष्ण … [आगे पढ़ें...]

बांके बिहारी कजरारे तेरे मोटे-मोटे नैन..

वृंदावन 2014.07.14 (AU)। संगीत शिरोमणि स्वामी हरिदास की साधनास्थली निधिवनराज में गुुरुपूर्मिणा पर धवल चांदनी में विविध धार्मिक अनुष्ठान हुए। भजन संध्या में बही संगीत एवं भक्ति की रसधारा बही। श्रद्धालु झूमते दिखे। देश-विदेश के श्रद्धालुओं को संबोधित करते हुए मंदिर सेवायत भीकचंद्र गोस्वामी ने कहा कि भगवान का प्रत्येक उत्सव प्रभु कृपा … [आगे पढ़ें...]