मध्यप्रदेश तक फैली ब्रज की पहचान, राधाकृष्ण का रास में रचा विश्व रिकाॅर्ड

- ज्यादातर लोगों ने राधा-कृष्ण की वेशभूषा धारण कर बनाया विश्व रिकाॅर्ड वृन्दावन, 29 सितम्बर 2017,(VT) ब्रज की भीनी-भीनी खुशबू का एहसास देश-दुनिया में जगह-जगह फैल रहा हैं। बुधवार को मध्यप्रदेश के इंदौर में नई दुनिया और रेसकोर्स रोड नवदुर्गा मंडल के संयुक्त गरबा महोत्सव ’रास उल्लास’ में बुधवार का दिन ऐतिहासिक रहा। यहां एक साथ दो विश्व … [आगे पढ़ें...]

वात्सल्य ग्राम में सजी भव्य चौकी, भजनों पर आत्मविभोर हुए भक्त

वृन्दावन, 28 सितम्बर 2017,(VT) वात्सल्य ग्राम में मां सर्वमंगला नवरात्र अनुष्ठान महोत्सव में मंगलवार की रात मां की चैकी का आयोजन किया गया। साध्वी ऋतम्भरा ने मां की ज्योति जलाकर जगराते का शुभारंभ किया। इस अवसर पर साध्वी ऋतम्भरा ने कहा कि देवताओं ने विपत्ति के समय शक्ति स्वरूपा मां जगदंबा को याद किया था तब नौ रूपों में अवतार लेकर मां ने … [आगे पढ़ें...]

नवरात्र विशेष: ब्रज रक्षिका के नाम से भी प्रसिद्ध है श्रीनरी सेमरी देवी

-​नवरात्र के समय आयोजित विशाल मेले में काफी संख्या में जुटते हैं श्रद्धालु वृन्दावन, 24 सितम्बर 2017, (VT) यूं तो भारत के कोने कोने में देवी पीठ हैं । विश्व प्रसिद्द पौराणिक नगरी कृष्ण की लीला स्थली मथुरा दिल्ली राज मार्गपर छाता के निकट एक देवी पीठ है -नरी- सेमरी जो मथुरा-आगरा के आसपास क्षेत्रों की मातृदेवी-कुलदेवी है| बृज रक्षिका के … [आगे पढ़ें...]

सिद्ध श्रील कृष्णदास बाबा, मानसी गंगा, गोवर्धन तिरोभाव महोत्सव विशेष:

-मानसी गंगा की परिक्रमा कर निकाला सिद्ध बाबा का डोला, सूचक कीर्तन कर मनाया तिरोभाव महोत्सव -ब्रज चौरासी कोस एवं विभिन्न देशों से आए गौड़ीय सन्तों एवं भक्तों का होता है समागम वृन्दावन, गोवर्धन 24 सितम्बर 2017, (VT) सिद्ध श्रील कृष्णदास जी का जन्म उड़ीसा राज्य के जिला 'मयूर-भंज' के अंतर्गत 'दामोदरपुर' में हुआ। पिता जी का नाम सनातन एवं … [आगे पढ़ें...]

श्रीराम चले वन की ओर, दशरथ जी त्यागे प्राण

- श्रीकृष्ण जन्मस्थान पर चल रही रामलीला वृन्दावन, मथुरा 24 सितम्बर 2017,(VT) शनिवार को श्रीकृष्ण जन्मस्थान पर चल रही रामलीला में मर्यादा पुरूषोत्तम श्रीराम, लक्ष्मण और जानकी वन की ओर चल निकले तो वहीं राजा दशरथ ने पुत्र वियोग में प्राण त्याग दिए है। श्री राम सीता, लक्ष्मण पैदल यमुना किनारे विश्राम घाट पहुंचे। विश्राम घाट पर चतुर्वेद … [आगे पढ़ें...]

संकर्षण महाराज की प्राण प्रतिष्ठा व महाभिषेक तीन को 

-संत चिन्ना जीयार स्वामी चार दिन प्रवास पर गोवर्धन में निवास करेंगे  वृन्दावन, 23 सितम्बर 2017। द ब्रज फाउंडेशन की ओर से गोवर्धन स्थित पौराणिक संकर्षण कुण्ड पर तीन अक्टूबर से तीन दिवसीय संकर्षण भगवान की प्राण प्रतिष्ठा एवं महाभिषेक आयोजित किया जाएगा। इसमें तेलंगाना और आंध्र प्रदेश से बड़ी संख्या में कृष्ण भक्त जुटेंगे।  अध्यक्ष … [आगे पढ़ें...]

शक्ति के रंग में रंगी भक्ति की नगरी, देवी के जयकारों से  गूंजा श्रीधाम वृन्दावन

-राधाबाग स्थित कात्यायनी मंदिर में सुबह से ही लगा श्रद्धालुओं का हुजूम वृन्दावन, 22 सितम्बर 2017। शारदीय नवरात्र के पहले दिन भगवान श्रीकृष्ण की क्रीडास्थली श्रीधाम वृन्दावन देवी मां के जयकारों से गूंज उठी। देवी मंदिरों में सुबह से ही श्रद्धालुओं की भीड़ व दर्शन के लिए उमड़ पड़ी। देर शाम तक मंदिरों में भक्तों का भारी हुजूम लगा … [आगे पढ़ें...]

नवरात्र विशेष आलेख : श्रीकृष्ण की इच्छा सौं ब्रज में शक्ति ने लियौ अवतार…

वृन्दावन, 22 सितम्बर 2017,(VT) मां भगवती सर्वविदित हैं, सर्वज्ञाता हैं, दुखियों के दुख हरने वाली हैं। ब्रज में इनसे आत्मिक जुड़ाव का एक कारण और भी है। श्री कृष्ण जन्म के साथ ही यहां भगवती देवी का भी प्रादुर्भाव होना है। दुर्गा सप्तशती में देवी के अवतरित होने का उल्लेख मिलता है कि ‘नन्दगोपगृहे जाता यशोदागर्भसम्भवा’ मैं नन्द गोप के घर में … [आगे पढ़ें...]

श्रीनरोत्तमलाल सेवा संस्थान में मनाया जा रहा आचार्य मदनगोपाल शास्त्री का जन्म शताब्दी महोत्सव

वृंदावन, Vt staff (18.09.2017): श्रीनरोत्तमलाल सेवा संस्थान में आचार्य मदनगोपाल शास्त्री के जन्म शताब्दी महोत्सव में चल रहे आठ दिवसीय अनुष्ठान में रविवार को श्रीगोपाल महायज्ञ में याज्ञिक आचार्यों ने आहुति दी तो शाम को संत सम्मेलन का आयोजन किया गया। 1संत सम्मेलन में वृंदावन की महिमा का बखान करते हुए मलूक पीठाधीश्वर स्वामी राजेंद्रदास … [आगे पढ़ें...]

संकर्षण कुण्ड की आभा से दमका ब्रजमंडल, श्री चिन्ना जीयार स्वामी करेंगे चार दिन का प्रवास

गोवर्धन , 18.09.2017 ब्रजमंडल ने दक्षिण को तिरुपति के रूप में दाऊ दिए तो दक्षिण के कला कौशल ने ब्रजमंडल को उन्हें भगवान संकर्षण की मूरत के रूप में साकार कर दिव्यस्थली को समर्पित कर दिया। साढ़े पांच हजार वर्ष के इतिहास में पहली बार उत्तर और दक्षिण के कृष्णभक्त द्वापरयुग के प्रेमभरे लम्हों को जीवंत करेंगे। परिक्रमा मार्ग में आन्यौर के … [आगे पढ़ें...]