मथुरा-वृन्दावन जल्द ही तीर्थस्थल घोषित किये जायेंगे- योगी आदित्यनाथ

- परिक्रमा मार्ग स्थित निकुंजवन आश्रम में नवनिर्मित ध्यान केन्द्र का उद्घाटन करने पहुंचे - आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एवं योगगुरु बाबा रामदेव वृन्दावन, 07 अक्टूबर 2017,(VT) वृन्दावन परिक्रमा मार्ग स्थित निकुंजवन आश्रम में नवनिर्मित ध्यान केन्द्र का उद्घाटन आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ … [आगे पढ़ें...]

शरद पूर्णिमा पर विदेशी भक्तों ने किया यमुना पूजन

- सेवाकुंज स्थित कृष्णबलराम मंदिर के निर्देशन में हुआ यमुना पूजन वृन्दावन, 06 अक्टूबर 2017,(VT) शरद पूर्णिमा का मंगल उदय सर्वप्रथम यमुना महारानी के पूजन से किया गया। वृंदावन के सेवाकुंज मार्ग स्थित कृष्ण बलराम मंदिर के महंत मधुसूदन महाराज के निर्देशन में विदेशी भक्तों के समूह ने सर्वप्रथम यमुना पूजन कर शरद पूर्णिमा मनाई। शरद पूर्णिमा के … [आगे पढ़ें...]

दक्षिण से पधारे ब्राहमणों ने कराया संकर्षण भगवान का अभिषेक

- ब्रज फाउण्डेशन के निर्देशन में बनाया गया है यह ऐतिहासिक कुण्ड - नादस्वर के बीच हुआ जलाभिषेक वृन्दावन, 05 अक्टूबर 2017,(VT) आखिर वह घड़ी आ ही गई, जिसका ब्रजवासियों को कई दिन से इंतजार था। आन्यौर स्थित परिक्रमा मार्ग मंगलवार को दक्षिण और उत्तर की शैली का गवाह बना। दक्षिण भारत के नादस्वरम के बीच ब्रज के दाऊ दादा संकर्षण भगवान का जलाभिषेक … [आगे पढ़ें...]

रामानुज सम्प्रदाय के सिद्धांत की विशिष्टता है कि भक्ति और ज्ञान

- ब्रज संस्कृति शोध संस्थान द्वारा प्रासंगिक विषयों पर आयोजित किया गया व्याख्यान वृन्दावन, 05 अक्टूबर 2017,(VT) ब्रज संस्कृति शोध संस्थान में मंगलवार को श्रीमद् रामानुजाचार्य के सिद्धांत की तत्कालीन एवं समसामयिक परिदृश्य में प्रासंगिकता विषय पर व्याख्यान आयोजित किया गया। विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन की शोध अध्येता डॉ. मीनाक्षी जोशी ने कहा … [आगे पढ़ें...]

विरक्त संत रमेश बाबा की 40 दिवसीय ब्रजयात्रा प्रारम्भ

- ब्रजयात्रा के दौरान यमुना शुद्धिकरण की होगी बुलंद आवाज - पिछले 30 वर्षों बाबा द्वारा आयोजित की जाती है विशाल ब्रजयात्रा - ब्रजयात्रा के दौरान देश-विदेश से ब्रजयात्रा करने आते है श्रद्धालु एवं भक्त वृन्दावन, (बरसाना) 05 अक्टूबर 2017,(VT) बृषभान नंदनी के धाम से शुरू हुई ब्रज चैरासी कोस की 40 दिवसीय राधारानी मंगलवार को ब्रज के विरक्त … [आगे पढ़ें...]

स्वर्ण-रजत गज पर विराजकर ठा. राधारमण लाल ने दिए दर्शन

वृन्दावन, 01 अक्टूबर 2017। नगर के सप्तदेवालय एवं अन्द मंदिरों में विजयादशमी दशहरा का पर्व मनाया। प्रत्येक ठाकुर जी का प्राचीन परम्परानुसार विशेष श्रृंगार किया गया, जिसे देख भक्त आनंदित हो उठे। सप्तदेवालय में से ठा. राधारमण मंदिर में भी विजयादशमी का पर्व मनाया पूरे उल्लास के साथ मनाया गया, इस अवसर पर  सायंकाल बेला में स्वर्ण-रजत गज पर … [आगे पढ़ें...]

श्रीराम के जयकारों से गूंजी धर्मनगरी, धूं-धूं कर जल उठा रावण

- बुराई पर अच्छाई की जीत  वृन्दावन, 01 अक्टूबर, 2017,(VT) भगवान श्रीकृष्ण ने द्वापर में जिस धरा पर अत्याचारी कंस का अंत किया था, उसी पर मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम ने अहंकारी रावण का वध कर दिया। अंतर सिर्फ इतना है कि कलियुग का ये रावण त्रेतायुग वाला वो लंकापति नहीं था, जिसने सीता माता का हरण किया था, बल्कि ये वह दशानन था, जो हमारे समाज … [आगे पढ़ें...]

कार्तिक मास विशेष: धार्मिक एवं शुभ कार्यों के लिए उत्तम रहता है कार्तिक मास, मिलता है सौ गुना फल

- ब्रज के सप्त देवालयों में कार्तिक नियम सेवा आज से शुरू  वृन्दावन, 01 अक्टूबर 2017, (VT) हिंदू पंचांग के अनुसार वर्ष का आठवां महीना कार्तिक होता है। पुराणों में कार्तिक मास को स्नान, व्रत व तप की दृष्टि से मोक्ष प्रदान करने वाला बताया गया है। इस पूरे माह स्नान, दान, दीपदान, तुलसी विवाह, कार्तिक कथा का माहात्म्य आदि सुनते हैं। ऐसा … [आगे पढ़ें...]

श्रीश्रीमन्माध्वाचार्य जी के आविर्भाव महोत्सव पर विशेष:

वृन्दावन, 01 अक्टूबर 2017,(VT) श्रीमन्माध्वाचार्य जी का जन्म उडिपी से तीन मील दूर उत्तरी कन्नड़ में सन १२३८ में विजयदशमी के दिन हुआ। केवल ५ वर्ष की आयु में ही उन्होंने दीक्षा ग्रहण की एवं १२ वर्ष की आयु में सन्यास लेकर मोह के बंधनों से मुक्त होकर भक्ति पथ की ओर अग्रसर हुए। आपके पिताजी का नाम श्रीमध्वगेह भट्ट, व माताजी का नाम श्रीमती … [आगे पढ़ें...]

एक समय वृन्दावन की हरियाली और घाटों की रमणीक श्रृंखला को देखकर रीझते थे ​देशी—विदेश पर्यटक

-मलबे में पटी है वृन्दावन की अद्भुत धरोहर, कितनी बड़ी कीमत चुकाई है वृन्दावन ने {द्वारा: ब्रज संस्कृति शोध संस्थान, वृन्दावन}   (VT) 30 Sep 2017, वृन्दावन में मन्दिरों के बाद सब से बड़े आकर्षण के केन्द्र थे यहाँ के कलात्मक घाट ! जिन्हें 18 वीं सदी में अत्यन्त भक्ति भाव से यमुना के तट पर निर्मित कराया था ,राजपूत ,जाट, मराठा , … [आगे पढ़ें...]