ब्रजवासियों की भावना के अनुरूप होगा ब्रज विकास: शैलजाकांत मिश्र

वृन्दावन, 24 सितम्बर 2017,(VT) ब्रज तीर्थ विकास परिषद के उपाध्यक्ष शैलजाकांत मिश्र ने शनिवार को सांसद हेमामालिनी से मुलाकात कर ब्रज विकास की योजना पर चर्चा की। बताया कि इस संबंध में लखनऊ से आई टीम सर्वे कर रही है और इसी दौरान ब्रज क्षेत्र के बुद्धिजीवियों से संपर्क कर उनके विचार जाने जा रहे हैं, ताकि ब्रज का मौलिक विकास हो सके। सांसद … [आगे पढ़ें...]

ब्रज फाउण्डेशन द्वारा आयोजित सांझी मेले का ब्रह्मकुंड पर भव्य समापन

वृन्दावन में ब्रज फाउण्डेशन द्वारा आयोजित सांझी मेले की झलकियां  वृन्दावन, 12.09.2017 (VT Staff) : वृन्दावन के ब्रह्मकुंड पर चार दिन से चल रहा सांझी मेला बड़े भावपूर्ण वातावरण में 10 सितंबर की रात समापन हो गया। इस अवसर पर मेले के आयोजक ब्रज फाउंडेशन के अध्यक्ष विनीत नारायण और ब्रज संस्कृति के पुरोधा मोहन स्वरूप भाटिया जी ने सभी … [आगे पढ़ें...]

ब्रजवा​सीन के पण्डित बाबा : पण्डित बाबा ने गांधीजी को दी थी स्वतंत्रता आंदोलन में हरिनाम जोड़ने की प्रेरणा

वृन्दावन,  12.09.2017 (VT Staff) : ब्रजमंडल के मूर्धन्य संत रामकृष्ण दास महाराज पण्डित बाबा का 74वां तिरोभाव महोतसव भागवत निवास में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। रविवार को महोत्सव में भाग लेने के लिए भारी संख्या में श्रद्धालु वहां पहुंचे। इसके अलावा भक्त उन्हें अपने श्रद्धासुमन अर्पित करने वृन्दावन शोध संस्थान में स्थित भजनस्थली भी … [आगे पढ़ें...]

यमुना में बढ़ते प्रदूषण पर हाईकोर्ट ने डीएम मथुरा को किया तलब

- सरकारी अधिवक्ता द्वारा और समय मांगने पर हाईकोर्ट ने नाराजगी  जाहिर कर डीएम मथुरा को किया तलब वृन्दावन, 09 अगस्त 2017,(VT) यमुना में स्थानीय प्रशासन की लापरवाही के चलते यमुना में बढ़ते प्रदूषण पर हाईकोर्ट ने नाराजगी जाहिर कर डीएम मथुरा को तलब किया है। मामले की अगली सुनवाई पर डीएम मथुरा को पेश करने के आदेश दिए है। हाईकोर्ट द्वारा … [आगे पढ़ें...]

प्राचीन रंगजी मंदिर में हुई गजेंद्र मोक्ष लीला

-भगवान गोदारंगमन्नार पालकी में विराजकर मंदिर के बाहर स्थित पुष्करनी पर पधारे वृन्दावन, 08 अगस्त 2017, (VT)सोने के खंभे नाम से प्रसिद्ध वृन्दावन में प्राचीन रंगजी मंदिर में सोमवार को गजेंद्र मोक्ष लीला का आयोजन किया गया, वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ ठाकुर जी का पूजन किया एवं लीला को देखने के लिए स्वयं भगवान गोदारंगमन्नार पालकी में विराजकर … [आगे पढ़ें...]

श्रावणी पूर्णिमा पर विप्रों द्वारा यमुना स्नान कर किया उपाकर्म

-नरोत्तम लाल सेवा संस्थान द्वारा श्रावणी पर्व पर उपाकर्म का आयोजन किया गया वृन्दावन, 08 अगस्त 2017,(VT) श्रावणी पर्व पर सोमवार को विप्रों द्वारा यमुना स्नान कर उपाकर्म का आयोजन किया गया। नरोत्तम लाल सेवा संस्थान द्वारा आयोजित उपाकर्म याज्ञिक आचार्य विष्णुकांत शास्त्री के नेतृत्व एवं जगद्गुरु रामानुजाचार्य अनिरुद्धाचार्य महाराज के … [आगे पढ़ें...]

यमुना के घाटों का संरक्षण करें भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण

-राजे-रजवाड़ों ने धर्मभाव से प्रेरित होकर जनहित में कराया था इनका निर्माण  -देश की आजादी को 70 साल हो गए, लेकिन पुरातत्व विभाग ने इन घाटों को सजाने-संवारने की नहीं उठाई जहमत  वृंदावन, 06 अगस्त 2017,(VT) सामाजिक कार्यकर्ता महंत मधुमंगल शरणदास शुक्ल ने रविवार को महानिदेशक को भेजे एक पत्र में यमुना के प्राचीन घाटों का भारतीय पुरातत्व … [आगे पढ़ें...]

जगद्गुरू कृपालु परिषत् का नाम लिम्का बुक आॅफ रिकार्ड्स में दर्ज

-परिषत् द्वारा आयोजित प्रशिक्षण कार्यक्रम में 5700 लड़कियों ने प्रदर्शन किया -परिषत् और अभिसेल्फ प्रोटेक्शन ट्रस्ट के संयुक्त तत्वावधान आयोजित हुआ था प्रशिक्षण कार्यक्रम  वृन्दावन, 31 जुलाई 2017, (VT) समाजसेवा एवं दरिद्र नारायण सेवा में नए आयाम स्थित करने वाली जगद्गुरू कृपालु परिषत् को लड़कियों को सेल्फ डिफेंस ट्रेनिंग प्रोग्राम में … [आगे पढ़ें...]

तीज पर स्वर्ण-रजत हिंडोले में विराजेंगे ठा. बांकेबिहारी

वृन्दावन, 24 जुलाई 2017(VT) ठा. बांकेबिहारी जी महाराज बुधवार को हरियाली तीज के अवसर पर हरी छटा में स्वर्ण-रजत हिंडोले में विराजकर भक्तों को दर्शन देंगे। मंदिर प्रबंध के अनुसार हरियाली तीज की सारी व्यवस्थाएं पूर्ण कर ली गई हैं, हरियाली तीज के अवसर पर मंदिरों को दुल्हन की तरह सजाया जाएगा, सायंकाल में स्वर्ण-रजत हिंडोले में ठा. … [आगे पढ़ें...]

सावन सोमवार पर विशेष: महारानी अहिल्या बाई होल्कर ने प्रथम बार शिवलिंग के प्रतीक चिह्न को सिक्कों पर कराया अंकित

वृन्दावन, 17.07.2017 (V.T.) ब्रज संस्कृति शोध संस्थान,वृन्दावन में संग्रहीत यह दुर्लभ चाँदी का रुपया इंदौर की प्रसिद्ध महारानी अहिल्या बाई होल्कर ( सन् 1765 ई० - सन् 1795 ई० ) का है, जिस की विशेषता यह है कि रुपया तो तत्कालीन परम्परा के अनुसार मुगल बादशाह के नाम पर ही फारसी अभिलेख के साथ जारी किया गया है, परन्तु महारानी ने टकसाल चिह्न के … [आगे पढ़ें...]