छठवें वार्षिकोत्सव पर आधुनिक रोशनियों से नहाया प्रेम मंदिर, भक्तों ने खेली फूलों की होली

– भगवान राधाकृष्ण और सीताराम के श्रीविग्रहों का किया गया दुग्धाभिषेक
– कार्यक्रम डॉ. विशाखा त्रिपाठी, डॉ. श्यामा त्रिपाठी और डॉ. कृष्णा त्रिपाठी के सान्निध्य में हुआ
वृन्दावन, 13 फरवरी 2018, (VT) प्रेम मंदिर के छठवें वार्षिकोत्सव पर रविवार को प्रेम मंदिर को दुल्हन की तरह आधुनिक लाइटों एवं विभिन्न प्रकार के फूलों से सजाया गया, मंदिर की छटा मानो देखते ही अद्भुत लग रही थी। मंदिर प्रांगण में प्रातः काल से ही हरिनाम संकीर्तन एवं धार्मिक आयोजनों जारी रहे, धार्मिक आयोजनों के मध्य भगवान राधाकृष्ण और सीताराम के श्रीविग्रहों का वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ पंचद्रव्य से अभिषेक कराया गया, तत्पश्चात् फूल बंगला सजाकर उनको विराजमान कराया गया एवं विशेष पूजा-अर्चना की गई। शाम को ब्रज की प्रसिद्ध विशेष होली लीला का भी मनोहारी आयोजन हुआ, इस अवसर पर भारी संख्या में श्रद्धालु एवं भक्त मौजूद थे।
जगद्गुरु कृपालु परिषत की देखरेख में भक्तों ने युगल विग्रहों के विशेष दर्शन प्राप्त किए। छटीकरा मार्ग स्थित प्रेम मंदिर के वार्षिकोत्सव में रविवार को ठाकुरजी को विशेष भोग परोसा और आरती उतारी। लीला का सैकड़ों भक्तों ने आनंद लिया। जेकेपी की तीनों अध्यक्ष डॉ. विशाखा त्रिपाठी, डॉ. श्यामा त्रिपाठी और डॉ. कृष्णा त्रिपाठी के सान्निध्य में महोत्सव आयोजित हुआ।
उल्लेखनीय है कि श्रीराधाकृष्ण के दिव्य प्रेम को समर्पित यह अदभुत मंदिर जगद्गुरु कृपालु महाराज ने जगद्गुरु दिवस 14 जनवरी 2001 को लोकार्पित किया था। DKS

एक उत्तर दें छोड़ दो

Your email address will not be published. Required fields are marked *