श्रद्धालु एवं भक्त गुलजार, भक्ति की बही बयार, ठा. बांकेबिहारी जी के सानिध्य में मनाई नववर्ष की पहली सुबह

– प्रातः से ही मंदिरों के बाहर भक्तों का लग गया था जमावड़ा
– होटल, गेस्टहाउस और आश्रम भी श्रद्धालुओं की संख्या से हांफे
– चारों तरफ पुलिस की नो एन्टी व्यवस्था रही फेल
वृन्दावन, 01 जनवरी 2018, (VT) वर्ष 2017 की विदाई और 2018 के स्वागत के लिए वृंदावन बांके बिहारी के जय घोष से गुंजायमान हो रही है। लाखों श्रद्धालुओं ने यहां डेरा डाल लिए हैं। ठहरने तक के लिए होटल, धर्मशाला भी नहीं मिल पा रही है।
कोहरे की घनी चादर के बीच वृंदावन की तरफ बढ़ते श्रद्धालुओं के कदम भक्ति भाव के गहरे होने के संकेत दे रहे हैं। होटल, गेस्टहाउस और आश्रमों श्रद्धालुओं से गुलजार हैं। ठा. बांकेबिहारी के भक्तों आंगन में भक्त भक्ति भाव से झूम रहे हैं। नववर्ष की पूर्व संध्या पर वृंदावन में देखने को मिल रहा है। गोद में लड्डू गोपाल लिए महिलाएं बालकों की तरह उन्हें भी ठंड से बचाकर आराध्य बांकेबिहारी के दर्शन करने मंदिर में पहुंच रही हैं। मंदिर में दर्शन करने को आ रही भीड़ का रिकार्ड टूट गया। मंदिर में कदम रखना मुश्किल हो रहा है। चबूतरे से लेकर बाजार और सौ मीटर दूर विद्यापीठ चैराहा तक का मार्ग श्रद्धालुओं से खचाखच भरा गया।
सुबह से शुरू हुआ श्रद्धालुओं का आगमन शुरू हो गया, जो देर शाम तक थमने का नाम नहीं ले रहा था। वृद्ध श्रद्धालु को मंदिर तक पहुंचने में दिक्कतें आ रही है। वे दुकानदारों के फड़ पर विश्रम करने के बाद आगे बढ़ रहे हैं। बांकेबिहारी के आंगन में जो आया, वह उनकी एक झलक पाकर हर दुख दर्द को खो बैठा महसूस करने लगा।

प्रशासन की नो एन्टी व्यवस्था पर हावी रहा भक्तों की दलबल:
नववर्ष पर प्रभु दर्शन को भक्तों का सैलाब उमड़ पड़ा। रविवार सुबह से देर रात तक सात कोस में मानव श्रंखला बनी रही। कानून की जंजीर परिक्रमा मार्ग में वाहनों के प्रवेश पर प्रतिबंध नहीं लगा सकी। कई रास्ते होने के कारण मार्ग में वाहनों की लंबी लाइन लग गई और चारों तरफ रुक रुक कर जाम लगता रहा।

मंत्री ने लगाई परिक्रमा
गोवर्धन: परिवहन मंत्री स्वतंत्रदेव सिंह भी नववर्ष की पूर्व संध्या पर गिरिराज महाराज की परिक्रमा लगाने गोवर्धन पहुंचे। राधाकुंड पहुंचने पर भाजपा कार्यकर्ताओं ने उनका दुपट्टा पहनाकर स्वागत किया तथा राधाकुंड में बस स्टैंड की मांग करते हुए बसों के आवागमन की मांग की। भाजपा जिला उपाध्यक्ष ज्ञानेंद्र राणा, गौतम खंडेलवाल, चंद्र विनोद कौशिक, महेंद्र गोस्वामी, सभासद बल्लभ चैधरी राजेन्द्र सिंघल, रामचंद बघेल, गिरीश, छत्तर, रवि, मनोज आदि तमाम कार्यकर्ता मौजूद थे। ’DKS

एक उत्तर दें छोड़ दो

Your email address will not be published. Required fields are marked *