शीतकालीन सत्र को देखते हुए प्रिया-प्रियतम के समक्ष रखी चांदी की अंगीठी

– गर्म पदार्थों का सेवन कर रहे ठाकुर
वृन्दावन, 10 दिसम्बर 2017,(VT) राधारानी की जन्मभूमि में स्थित प्राचीन लाड़ली जी मंदिर में हीटर और दहकती अंगीठी दोनों का प्रबंध किया गया है। मंदिर के सेवायत अधिकारी ललित मोहन कल्ला मुखिया का कहना है कि गर्म भोग भी दिया जा रहा है। यहां खिचड़ी उत्सव का आयोजन किया जाएगा।
भक्तों ने भगवान को सर्दी से बचाने के लिए मंदिरों में हीटर लगा दिए हैं और अंगीठी दहकाना शुरू कर दिया है। लल्ला और लाड़ली जी को ठंड छू नहीं पाए, इसके लिए गर्म वस्त्र ओढ़ा दिए हैं।
प्रिया प्रियतम कितने बड़े क्यों नहीं हो गए हों, लेकिन ब्रज में कान्हा को बालक एवं राधा जी को बालिका मानकर ही सेवा की जाती है। यही कारण है कि उन्हें शीत से बचाने के लिए बच्चों की तरह प्रबंध किए जाते हैं। विश्व प्रसिद्ध राजाधिराज द्वारिकाधीश मंदिर में इन दिनों बाल प्रभु संग लक्ष्मी जी को कोयले दहकाकर गर्मी दी जा रही।
मंदिर के सहायक अधिकारी दीनानाथ शर्मा ने बताया कि 11 दिसंबर से ठाकुर जी को चालीस दिन तक केसरिया गर्म दूध अर्पित किया जाएगा। प्राचीन केशव देव मंदिर में भी अंगीठी दहक रही है। प्रबंध समिति के प्रवक्ता नारायण प्रसाद शर्मा का कहना है कि दर्शन के समय सुबह और शाम दोनों समय अंगीठी जलाई जाती है।
श्रीकृष्ण जन्मभूमि के केशव देव प्रभु मंदिर में चांदी अंगीठी चलाया जा रहा है। मंदिर की प्रबंध कमेटी के संयुक्त अधिशासी अधिकारी राजीव श्रीवास्तव ने बताया कि परिसर स्थित सभी मंदिरों में गर्म व और भोग अर्पित किए जा रहे हैं। DKS

एक उत्तर दें छोड़ दो

Your email address will not be published. Required fields are marked *