समविद् गुरूकुलम् में सांस्कृतिक छटा के मध्य मना वाईब्रेंस 2017

– कला हमारे जीवन को परिमार्जित करती है- साध्वी ऋतम्भरा

वृन्दावन, 20 नवम्बर 2017,(VT) वात्सल्य ग्राम स्थित समविद गुरुकुलम स्कूल का वार्षिकोत्सव वाईब्रेन्स 2017 धूमधाम से संपन्न हुआ। इसमें स्कूल की तीन सौ छात्रओं ने भारतीय संस्कृति के विभिन्न रंग बिखेरे। कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए साध्वी ऋतम्भरा ने कहा कि कला हमारे जीवन को परिमार्जित करती है। कला हमें जीवन जीना सिखती है।
कार्यक्रम की शुरुआत छात्राओं ने शास्त्रीय संगीत पर आधारित सरस्वती वंदना से की। कक्षा नर्सरी से चार तक छात्र-छात्रओं ने डिजनी वल्र्ड की प्रस्तुति कर मोगली की याद ताजा कर दी। ऑरकेस्ट्रा के माध्यम से बच्चों ने लगभग चालीस भारतीय वाद्य यंत्रों को बजा कर हरे रामा-हरे कृष्णा का गायन किया। नवरसों पर आधारित जीवन्त प्रस्तुति देकर दर्शकों को मन्त्र मुग्ध कर दिया। वन्देमातरम् से कार्यक्रम का समापन हुआ।
इससे पूर्व ब्रज तीर्थ विकास बोर्ड के उपाध्यक्ष शैलजाकांत मिश्र, ब्रिगेडियर नवीन राठी, नीरा राडिया का ललित किशोर मित्तल, सुमनलता, ब्रह्मरतन अग्रवाल, देवकी नन्दन जिन्दल, डा. श्याम अग्रवाल, प्रीति मेहरा, रंगोली मल्होत्र आदि ने तुलसी का पौधा, पटका, स्मृति चिह्न देकर सम्मान किया।
समारोह में संजय भैया, स्वामी गोविन्दानन्द तीर्थ, साध्वी शिरोमणि, साध्वी सम्पूर्णा, महेश खण्डेलवाल, शिवलाल खण्डेलवाल, विपिन अग्रवाल, गोवर्धन दास गुप्ता, पद्मनाभ गोस्वामी, दासविहारी अग्रवाल, वेद प्रकाश, आचार्य बद्रीश, आचार्य मृदुलकान्त शास्त्री आदि उपस्थित थे। इस दौरान संचालन अनन्या राय, तृप्ति सिंह, निकिता चैहान, वैष्णवी राठी व डॉ. उमाशंकर राही ने किया । DKS

एक उत्तर दें छोड़ दो

Your email address will not be published. Required fields are marked *