अब बहुत जल्द तीर्थ बनेंगे ईको-टूरिज्म, अब श्रद्धालु हेलीकाप्टर से निहारेंगे तीर्थों की तस्वीर

– करीब सौ करोड़ रुपये खर्च किए जाने हैं ईको टूरिज्म में रहने और खाने की व्यवस्थाओं पर
– पहले चरण में सूबे के छः जिलों को जोडेंगे हेलीकॉप्टर सेवा से


वृन्दावन, 02 नवम्बर 2017,(VT) प्रदेश सरकार द्वारा राज्य में दो दर्जन स्थानों को ईको टूरिज्म स्थल के रूप में विकसित किया जाएगा। इसके लिए जल्द ही पर्यटन विभाग और वन विभाग के बीच एमओयू पर हस्ताक्षर होंगे। यह फैसला मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में लोक भवन में हुई कैबिनेट की बैठक में किया गया।
ब्योरा ताउच्च स्तरीय सूत्रों ने बताया कि ईको टूरिज्म वाले स्थानों पर रहने और खाने की उचित व्यवस्था करने के लिए करीब सौ करोड़ रुपये का खर्च किया जाएगा। इस खर्च के लिए भविष्य में विधानमंडल के सत्र में दोनों सदनों से पारित कराए जाने वाले सप्लीमेंटरी बजट में प्राविधान किया जाएगा।
घूमने-घुमाने के साथ थोड़ा रोमांच भी जुड़ जाए तो पर्यटक ज्यादा आकर्षित होते हैं। वहीं कोई भी पर्यटक स्थल ऊपर से देखा जाए तो और भी खूबसूरत लगने लगता है। इसी मंशा के साथ पर्यटन विभाग सूबे के छह जिलों में हेलीकॉप्टर की सवारी कराने की तैयारी में हैं। इस संबंध में प्रस्ताव कैबिनेट की मंजूरी के लिए भेज दिया गया है। शुरुआती दौर में आगरा, मथुरा, लखनऊ, इलाहाबाद, अयोध्या और वाराणसी में ये योजना चलाई जाएगी।
इसके लिए पवनहंस के साथ करार करने की तैयारी है। इससे पहले मथुरा में इसे आजमाया जा चुका है। वहां परिक्रमा स्थल पर हेलीकॉप्टर की सवारी करवाई गई थी और पर्यटकों ने इसे पसंद किया था। अभी विभाग केवल ‘ज्वॉय राइड’ की तैयारी कर रहा है। इसमें 10-15 मिनट में पूरा शहर घुमाया जाएगा। ये ‘ज्वॉय राइड’ वो पर्यटक तो पसंद करेंगे ही जो थोड़ा रोमांच चाहते हैं वहीं उन बुजुर्ग पर्यटकों के लिए भी लाभकारी होगी जो धार्मिक स्थल घूमना चाहते हैं या परिक्रमा करना चाहते हैं, लेकिन ज्यादा चल नहीं सकते।
इसीलिए योजना में मथुरा, अयोध्या और वाराणसी को खासकर जोड़ा गया है। इसके लिए विभाग को हैलीपैड के लिए सिर्फ लखनऊ में जमीन की तलाश है। मथुरा, वाराणसी व अयोध्या में पहले से ही हैलीपैड बना हुआ है। वहीं आगरा में भी जमीन मिलने वाली है। इलाहाबाद में जमीन की तकनीकी रिपोर्ट आ गई है। कैबिनेट से मंजूरी मिलने के बाद इस योजना की शुरुआत होगी। राइड की कीमत हालांकि तय नहीं की गई है लेकिन एक अनुमान के मुताबिक ढाई हजार के आसपास इसका टिकट हो सकता है। DKS

एक उत्तर दें छोड़ दो

Your email address will not be published. Required fields are marked *