23 को प्रभुपाद जी का तिरोभाव, 120 देशों के कृष्णभक्त ने की ब्रज आने की तैयारी

– बीस को मनेगा अन्नकूट महोत्सव

वृन्दावन, 18 अक्टूबर 2017। नाम संकीर्तन के माध्यम से दुनिया में सनातन धर्म की पताका फहराने वाले इस्कॉन मंदिर के संस्थापक श्रील एसी. भक्तिवेदान्त प्रभुपाद जी का तिरोभाव महोत्सव 23 अक्टूबर को मनाया जाएगा। दीपावली के दूसरे दिन होगा। इसमें 120 देशों के कृष्णभक्त भारी संख्या में शामिल होने के लिए आ रहे हैं। प्रादुर्भाव उत्सव की तैयारियों में मंदिर प्रबंधन जुट गया है।

फूलों और कपड़ों के गुलदस्तों से मंदिर का सजाया संवारा जा रहा है। जगह-जगह तोरण द्वार बनाए जा रहे हैं। सत्संग भवन और सांस्कृतिक भवन परिसर को आकर्षक बनाया जा रहा है। यहां श्रीलप्रभुपाद का महाभिषेक, सत्संग, नाम संकीर्तन और संगोष्ठी होगी। मंदिर परिसर में पूजन सामग्री, श्रील प्रभुपाद के साहित्य की स्टॉल लग गई है। 20 अक्टूबर को उत्सव उल्लास पूर्वक मनाया जाएगा।

इस दिन सुबह अन्न का पर्वत बनाकर विदेशी श्रद्धालु गिरिराज महाराज का भोग लगाएंगे। शाम को गोबर के गिरिराज जी बनाकर उनका पूजन होगा। इधर, दीवाली के बाद करीब एक हफ्ते तक करीब 120 देशों के श्रद्धालु वृंदावन में डेरा डालेंगे। उनके ठहरने की व्यवस्था होटल गेस्टहाउसों में की गई। इन दिनों में इस्कॉन के आसपास के होटल और गेस्ट हाउस फुल हो चुके हैं। DKS

एक उत्तर दें छोड़ दो

Your email address will not be published. Required fields are marked *