शासन-प्रशासन की लेटलतीफी और लापरवाही ने ली राखी की जान

– सात माह बाद भी डकैती एवं मां-बाप की हत्या का खुलासा न होने से व्यथित थी राखी
– विषाक्त खाया, देर रात नयति अस्पताल में मृत्यु
वृन्दावन (मथुरा) 11 अक्टूबर, 2017,(VT) अमर कॉलोनी में सात माह पूर्व हुई डकैती और दंपति हत्याकांड का खुलासा न होने से व्यथित बेटी ने आत्महत्या कर शासन और प्रशासन के नुमाइंदों में खलबली मचा दी है।
आत्महत्या पर आक्रोशित लोगों ने अमर कालोनी मोड़ के पास गोवर्धन रोड पर शव रख कर जाम लगा दिया। काफी जद्दोजहद के बाद लोगों ने शव उठने दिया। पुलिस ने थाना हाईवे के इंस्पेक्टर को निलंबित कर दिया है। ऊर्जा मंत्री ने पांच लाख रुपये मदद की घोषणा की है। विगत 8 मार्च को अमर कॉलोनी में बनवारी व पत्नी रविबाला की हत्या कर बदमाशों ने डकैती डाली थी। 
सात माह तक अनाथ बच्चे न्याय की गुहार लगाते रहे, लेकिन मामले में कोई प्रगति नहीं हुई। नतीजतन, दंपति की बड़ी बेटी राखी ने शनिवार रात विषाक्त खा लिया। देर रात नयति अस्पताल में उसकी मौत हो गई। सुबह शव लाया गया तो लोगों का आक्रोश भड़क उठा। उन्होंने संवेदनहीनता का आरोप लगाते हुए जाम लगा दिया।
डीएम-एसएसपी के समझाने पर भी लोगों ने शव नहीं उठने दिया। विवेचक हटाने, घटना का खुलासा करने, दंपति के बेटे को नौकरी और भरण-पोषण को आर्थिक मदद मांग की। एसएसपी ने विवेचक व इंस्पेक्टर जीसी तिवारी को तत्काल प्रभाव से निलंबित करते हुए जांच क्राइम ब्रांच प्रभारी को सौंप दी है।

एक उत्तर दें छोड़ दो

Your email address will not be published. Required fields are marked *