यमुना जल का सेंपल लेने दौड़े अफसर, कल हाईकोर्ट की सुनवाई में होगा पेश

– अधिकारियों की जवाबदेही, यमुना स्वच्छता को लेकर फिर लगेगी अधिकारियों में लताड़

वृन्दावन, 25 अक्टूबर 2017,(VT) कल हाईकोर्ट में यमुना स्वच्छता प्रकरण को लेकर सुनवाई होनी हैं, जिसमें अधिकारियों की सबसे जवाबदेही होगी, एडीजे के जरिए कोसी से लेकर मथुरा तक के विभिन्न घाटों के यमुना जल सेंपल इस सुनवाई में पेश किए जाने है। सेंपल लेने के लिए हाईकोर्ट के प्रतिनिधि के साथ नगर निगम की टीम मंगलवार की शाम वृंदावन पहुंची और घाटों से यमुना जल के नमूने लिए।
मथुरा की यमुना सेवा संस्थान के सचिव सुरेश चतुर्वेदी ने 2010 में हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर कर यमुना में बढ़ते प्रदूषण से मुक्ति की मांग की। इस पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने एडीजे को यमुना जल का सेंपल लेकर कोर्ट के समक्ष प्रस्तुत करने के आदेश पारित किए।
जनहित याचिका पर 27 अक्टूबर को होने वाली सुनवाई के दौरान यमुना जल के सेंपल प्रस्तुत किए जाने हैं। इसके लिए एडीजे विवेकानंद त्रिपाठी की अगुवाई में नगर निगम के सहायक नगर आयुक्त डॉ. ब्रजेश कुमार, जलकल महाप्रबंधक मंजू गुप्ता, जेई दुष्यंत कुमार, राम कुमार याचिकाकर्ता सुरेश चतुर्वेदी के साथ यमुना के घाटों पर पहुंचे और कोसी ड्रेन, विहार घाट, जुगल घाट और केसी घाट पर यमुना जल के सेंपल लिए। DKS

एक उत्तर दें छोड़ दो

Your email address will not be published. Required fields are marked *