मथुरा-वृन्दावन जल्द ही तीर्थस्थल घोषित किये जायेंगे- योगी आदित्यनाथ

– परिक्रमा मार्ग स्थित निकुंजवन आश्रम में नवनिर्मित ध्यान केन्द्र का उद्घाटन करने पहुंचे
– आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एवं योगगुरु बाबा रामदेव

वृन्दावन, 07 अक्टूबर 2017,(VT) वृन्दावन परिक्रमा मार्ग स्थित निकुंजवन आश्रम में नवनिर्मित ध्यान केन्द्र का उद्घाटन आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एवं योगगुरु बाबा रामदेव ने कहा किया।
कार्यक्रम में बोलते हुए योगगुरू बाबा रामदेव ने कहा कि देश को आगे ले जाने और जीडीपी ग्रोथ रेट बढ़ाने का काम सवा सौ करोड़ लोगों का योगदान है। इसके लिए सभी को पुरुषार्थी बनना होगा। जीडीपी ग्रोथ को हम पतंजलि द्वारा योगदान देंगे, विवि बनाएंगे, विश्व स्तर की गौशाला बनाएंगे।
आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने यह बात कही। उन्होंने कहा कि जीवन को संस्कारित बनाने के लिए ध्यान की आवश्यकता है। आज जीवनचर्या विविध प्रपंचों से भरी हुई है। मानव को भविष्य का भय है, तो भूतकाल की कटु स्मृतियां भी हैं, लेकिन इनसे वर्तमान को प्रभावित नहीं करना चाहिए। जीवन में छोटी-छोटी बातों का अनुसरण करना चाहिए। वृन्दावन योगीराज श्रीकृष्ण की नगरी हैं, इसे जितना संवारा जाये और उतना ही अच्छा हैं, वृन्दावन विश्व स्तर पर आस्था का एक केन्द्र है।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आज राष्ट्रधर्म सबसे बड़ा धर्म है। इसको जातीयता, क्षेत्रवाद, संप्रदाय से ऊपर उठकर देखना चाहिए। भारत के मूल में अध्यात्म है और आध्यात्मिक चेतना के केंद्र बिंदु देश के संत हैं। आज सम्पूर्ण भारत में करीब 12 लाख से अधिक संत आध्यात्मिक जनजागरण का कार्य कर रहे हैं। प्रदेश सरकार मथुरा-वृन्दावन के विकास के लिए कृतसंकल्पित है। मथुरा-वृन्दावन को तीर्थस्थल बहुत जल्द ही घोषित किया जायेगा, मथुरा-वृन्दावन की धरोहरों को संभाला जाएगा। DKS

एक उत्तर दें छोड़ दो

Your email address will not be published. Required fields are marked *