मुख्यमंत्री जनता दरबार में मामला पहुंचने पर प्राचीन धर्मशाला में ध्वस्तीकरण कार्य पुलिस ने रूकवाया

– महंत मधुमंगल शरण दास शुक्ल की शिकायत पर ध्वस्तीकरण कार्य पुलिस ने रूकवाया

वृन्दावन, 25 अगस्त 2017,(VT) शहर की धर्मशालाओं पर अनैतिक रूप से कब्जे कर उनकी फर्जी रजिस्ट्री करा उन्हें ध्वस्त करके अपार्टमेंट और काम्पलैक्स बनाये जा रहे है, भूमाफियाओं के हौंसले प्रशासनिक मशीनरी के मिलीभगत से बुलंद है। सर्वप्रथम मिर्जापुर धर्मशाला और फिर देशभवन धर्मशाला जो कि जमीदोंज हो गई है।
इसी जद में हरीनिकुंज क्षेत्र में ऐसी ही करीब पचास साल पुरानी धर्मशाला पंजाबी रामनगरी धर्मशाला को खुर्द-बुर्द करने का काम पिछले कुछ दिनों से चल रहा है। धर्मप्रभाव से प्रेरित होकर यह धर्मशाला बाहर से आने वाले यात्रियों एवं श्रद्धालुओं के लिए निशुल्क रहने के लिए बनवाई गई हैं, लेकिन इन धर्मशालाओं को तोड़कर यहां काम्पलैक्स बनाने की योजना भूमाफियाओं द्वारा बनाई जा रही है।
रविवार को सामाजिक कार्यकर्ता ने इसकी शिकायत मुख्यमंत्री समेत सूबे के आला अफसरों से की तो पुलिस ने तत्काल काम रुकवा दिया। सामाजिक कार्यकर्ता महंत मधुमंगल दास शरण शुक्ला ने रविवार को जनता दरबार में मुख्यमंत्री को सौंपे पत्र में हरि निकुंज स्थित प्राचीन पंजाबी राम नगरी पंचायती धर्मशाला की फर्जी रजिस्ट्री कराकर भूमाफिया द्वारा ध्वस्त करने की शिकायत की है।
उन्होंने मुख्यमंत्री से प्राचीन रामनगरी पंचायती धर्मशाला को नष्ट होने से बचाकर संरक्षित करने की मांग की है। मामला मुख्यमंत्री तक पहुंचते ही कोतवाली पुलिस ने गंभीरता दिखाते हुए धर्मशाला में चल रहे ध्वस्तीकरण कार्य को रुकवा दिया है। DKS

एक उत्तर दें छोड़ दो

Your email address will not be published. Required fields are marked *