केशीघाट स्थित लक्ष्मीरानी कुंज पर अनैतिक कब्जे का प्रयास, दो गिरफ्तार

– डीएम से शिकायत कर मामले की दी जानकारी

– मामले में दो लोग गिरफ्तार, दो अन्य फरार
वृन्दावन, 25 सितम्बर 2017,(VT)केशीघाट स्थित पंजाब के पूर्व डीजीपी केपीएस गिल के निधन के बाद उनके आवास लक्ष्मीरानी कुंज पर अपना कब्जा जताते हुए दिल्ली के कुछ लोगों ने अनैतिक रूप से दीवार खड़ी करना शुरू कर दिया है। आवास पर रहने वाले कर्मचारियों ने इसका विरोध किया तो उनके साथ मारपीट कर दफ्तर में रखे कागजात जला दिए। मामले की जानकारी मिलने पर पुलिस ने कब्जा करने के आरोप में दो युवकों को हिरासत में लिया है। अन्य दो मौके से भाग गए।
लक्ष्मीरानी कुंज को करीब एक दशक पूर्व पंजाब के पूर्व डीजीपी केपीएस गिल ने खरीदा था। उनकी मौत के बाद अचानक कुंज के एक हिस्से पर अपना स्वामित्व दर्शाते हुए दिल्ली के एक जमीन कारोबारी ने पिछले दिनों दरवाजे के बाईं ओर दीवार बनवाना शुरू कर दिया। इसको देख कुछ कर्मचारियों ने विरोध किया तो करीब दो दर्जन लोगों ने उनके साथ मारपीट कर दी।
प्रोजेक्ट बलराम के डॉ. सुभाष गुप्ता ने बताया कि कब्जा करने का विरोध करने पर करीब पच्चीस लोगों ने एकराय होकर चैकीदार अतर सिंह, ब्रजनंदन यादव व वाहन चालक सत्यप्रकाश के साथ मारपीट कर दफ्तर में रखी फाइलें व कागजात भी जला दिए।
मामले की जानकारी मिलने पर कुंज की वर्तमान स्वामी और गिल की विदेशी महिला मित्र चांडी के दिल्ली निवासी सलाहाकर राजू ने डीएम से दूरभाष पर संपर्क कर मामले की जानकारी दी। डीएम ने रविवार की सुबह पुलिस को भेज कब्जा कर रहे लोगों को रोकने के निर्देश दिए। मौके पर पहुंचे कोतवाली के एसएसआइ विनोद कुमार ने बुलंदशहर के गांव मुनैया निवासी आदेश सिंह व रिंकू को हिरासत में ले लिया। गौतमबुद्ध नगर निवासी राजू व ओमप्रकाश भाग जाने में सफल हो गए।  DKS

एक उत्तर दें छोड़ दो

Your email address will not be published. Required fields are marked *