योगी के जनता दरबार में नगर की समस्याओं पर उठाई आवाज

सामाजिक मुद्दों को लेकर आवाज उठाने वाले महंत मधुमंगल शरण दास

वृन्दावन, 2017.06.16 (VT) : सामाजिक मुद्दों को लेकर आवाज उठाने वाले महंत मधुमंगल शरण दास इस बार शहर की समस्याओं को लेकर लखनऊ में मुख्यमंत्री आवास पर लगे जनता दरबार में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मिले। जिसमें उन्होंने वृंदावन के साथ-साथ प्रदेशभर में धर्मशाला संस्कृति, यमुना का अस्तित्व को बचाने सहित सात मांगों को रखा। मुख्यमंत्री ने आगरा कमिश्नर को जांचकर कार्रवाई के लिए निर्देश दिए।
महंत मधुमंगल शरण दास शुक्ल ने जनता दरबार में मुख्यमंत्री से मिले और बताया कि वृंदावन में प्राचीन धर्मशालाओं को मथुरा-वृंदावन विकास प्राधिकरण की मिलीभगत से लगातार ध्वस्त किया जा रहा है। उनके स्थान पर शाॅपिंग काॅप्लै क्स और फ्लैट बनाए जा रहे हैं। जिससे नगर में आने वाले करोड़ों यात्रियों के लिए ठहरने के लिए धर्मशाला समाप्त मथुरा और प्रदेशभर में है। धर्मशालाओं की अवैध बिक्री पर रोक लगे और धर्मशाला संस्कृति बचाने के लिए सरकार सख्त कानून लाए। उन्होंने कहा कि नगर के पुरानी इमारतों का मलबा यमुना की तलहटी में डाला जा रहा है। अवैध रूप से बालू खनन किया जा रहा है, जिससे यमुना के अस्तित्व खतरे में है।

वृन्दावन को मीठा पानी देने वाली एकमात्र नहर पर कब्जा हो रहा है। इसे कब्जामुक्त कराकर पुनः चलाया जाए। यमुना खादर के दोनों ओर सुरम्य वृक्षावली लगे। यमुना खादर में अवैध खरीद-फरोख्त पर रोक लगे। वृंदावन का मुरली मोहन पार्क पर कब्जा किया जा रहा है, उसमें लगी भगवान श्रीकृष्ण की मूर्ति को हटा दिया गया। पार्क को बचाया जाए और उसमें वह पुरानी प्रतिमा को स्थापित किया जाए। इन सभी मांगों को लेकर मुख्यमंत्री ने जल्द ही समस्याओं के निदान की भरोसा दिया है।

एक उत्तर दें छोड़ दो

Your email address will not be published. Required fields are marked *