आध्यात्म रक्षा मंच ने निधिवनराज में किया वृक्षारोपण

-उपस्थितजनों ने वृन्दावन को हरियालीयुक्त बनाने का लिया संकल्प

वृन्दावन, 2017.07.09, (VT), आध्यात्म रक्षा मंच द्वारा वृंदावन के प्राचीन स्वरूप को बचाने के लिए ठा.श्रीबांकेबिहारी जी महाराज की प्राकट्यस्थली श्री निधिवन राज में वृक्षारोपण किया। इस अवसर पर संपूर्ण वन में तमाल, कदंब, जामुन, नीम, आम, पीपल आदि के पौधों का रोपण कर उपस्थित जनों ने वृंदावन को हरियालीयुक्त बनाने का संकल्प लिया।

वन महोत्सव में मंच के अध्यक्ष आचार्य अतुलकृष्ण गोस्वामी ने कहा कि स्वामी हरिदास जी महाराज जैसा पर्यावरण प्रेमी कोई अन्य नहीं हुआ। उन्होंने इसी घन वन में लता, पता और वृक्षावलियों के बीच संगीत की साधना कर ठा. बांकेबिहारीजी का प्राकट्य किया और संपूर्ण जगत को पर्यावरण से प्रेम करने का संदेश दिया। आज देखा जा रहा है कि आधुनिकता की अंधी दौड़ में प्राचीनता को समाप्त किया जा रहा है। प्रकृति से खिलवाड़ कर वृंदावन को कंकरीट का वन बनाया जा रहा है, जो कि सिकी भी स्थिति में उचित नहीं है। वृंदावन के प्राचीन स्वरूप को बनाए रखने एवं यहां के वातावरण को शुद्ध बनाने के लिए अधिकाधिक संख्या में छायादार वृक्ष लगाना अति आवश्यक है। वृक्ष हमें जीवनदान देते हैं। हमारा कर्तव्य है कि हम उनकी रक्षा करें तथा उन्हें नष्ट होने से बचायें।                                                                                 निधिवन राज मंदिर के सेवायत भीकचंद गोस्वामी ने कहा कि पर्यावरण में प्रदूषण को देखते हुए इस युग में मानव जीवन की रक्षा को भी वृक्षारोपण जरूरी है। वृक्षारोपण तथा उसका संरक्षण प्रत्येक मानव जीवन का मूल उद्देश्य होना चाहिए।
वृक्षारोपण के उपरांत सभी उपस्थितजनों ने स्वामी हरिदास जी महाराज का प्रसाद एवं वन भोजन का आनंद लिया।

इस अवसर पर पं.बिहारीलाल वशिष्ठ, बालकृष्ण गौतम, प्रदीप गोस्वामी, बिंदूजी, आनंदगोपाल मिश्र, जगन्नाथ पोद्दार, संजय शर्मा, अरविंद गोस्वामी, बच्चू गोस्वामी, सत्यभान शर्मा, मदनगोपाल बनर्जी, रामबाबू शर्मा, रामविलास चतुर्वेदी, अशोक गोस्वामी मौजूद रहे। (DS)

एक उत्तर दें छोड़ दो

Your email address will not be published. Required fields are marked *