रंगारंग कार्यक्रमों के मध्य पुराना रामताल राष्ट्र को समर्पित

वृंदावन, 2016.11.21  (VT): सुनरख मार्ग पर स्थित 2700 साल पुराना रामताल सज धज कर कर आज राष्ट्र को समपिर्त हो गया। द ब्रज फाउण्डेशन को 15 फुट गहरा खोदने के बाद एक प्राचीन सरोवर घाट मिले थे । जिसे फाउण्डेशन ने एक राष्ट्रीय पुरातात्विक धरोहर के रूप में विकसित किया है। इन घाटों विशेषता यह है कि इनके नीचे एक डेढ़ इंच मोटी चादर बिछी हुई मिली है। जिसे इस उपलब्धि पर पुरातत्वविद् व वास्तुशास्त्री विस्मृत हैं। इसके जीर्णोद्धार के लिए आर्थिक सहयोग प्रदान करने वाले व प्रधान मंत्री कार्यालय के पूर्व मंत्री ने अपने भाषण में श्री कमल मोरारका ने जलाशयों के संरक्षण के महत्व पर जोर दिया। उन्होने कहा कि द ब्रज फाउण्डेशन गत 15 वर्षो से ब्रज के लुप्त हो गये कुंडों को खोजकर उनका जीणोद्धार उकर रही है, जिसके लिए उसकी पूरी टीम बधाई की पात्र है। इस अवसर पर एक विशाल जन समुदाय को संबोधित करते हुए फाउण्डेशन के अध्यक्ष श्री विनीत नारायण ने बताया कि ऐसे हर जीर्णोद्धार में सबसे ज्यादा बाधा उन लोगों के कारण आती है जो भगवान की इन दिव्य लीला स्थलियों पर अवैध कब्जे जमाए बैठें हैं। जिन्हें हटाने में कई वर्ष मुकदमें बाजी में खराब हो जाते है। अंत में उन्हें हटना पड़ता है। _dsc1629                                              लोकार्पण के अवसर पर सुनरख ग्राम व नगला रामताल के ब्रजवासियों व आमंत्रित अतिथियों के आंनद के लिए एक रासलीला का भी मंचन हुआ। इस अवसर पर  के अनेक संतगण, प्रमुख नागरिक व विशाल संख्या में आसपास के ग्रामों के ब्रजवासी मौजूद थे। जिन्होंने ब्रज फाउण्डेशन के प्रयासों की मुक्त ह्मदय से प्रशंसा की। इससे पहले आज सुबह रामताल पर बनी यज्ञशाला का पहला ऐतिहासिक यज्ञ आचार्य राजेश पांडे ने सम्पन्न करवाया। उन्होंने भी इस प्रयास के लिए फाउण्डेशन के प्रति आभार प्रकट किया और विश्वास जताया कि आने वाले समय यज्ञ स्थली बड़ी संख्या में देश के अनेक परिवारों और राजनेताओं को आकर्षित करेगी। क्योंकि यहां अनुष्ठान करने से संतान व वर्षा की प्राप्ति की जा सकती है। जिसके लिए यहां सभी आवश्यक सुविधाऐं उपलब्ध कराई गई है।

आज के समरोह में दोपहर 12 बजे से बजवासियों ने भगवान की दिव्य रासलीला का आंनद लिया। दोपहर  वैदिक मत्रों के बीच श्री व श्रीमती मोरारका ने रामताल तीर्थाटन व पर्यटन स्थल का लोकार्पण किया। इस अवसर पर  नारायण दास अग्रवाल, गंगोत्री समूह के अध्यक्ष श्री नरेन्द्र अग्रवाल के अलावा ब्रज के अनेक संतगण, भागवताचार्य व अन्य गणमान्य नागरिक व अधिकारी उपस्थित थे। सभी ने इस परिसर के प्राकृतिक सौन्दर्य को मुक्त कंठ से सराहा। सुनरख गांव के प्रधान श्रीमती वीरवती देवी व उनके प्रतिनिधि श्री जयपाल सिंह ने सभी अतिथियों का हार्दिक अभिनंदन किया। ब्रज फाउण्डेशन के सचिव श्री रजनीश कपूर, निदेशक वक्र्स श्री ईशान प्रदीप, प्रोजेक्ट कोर्डिनेटर श्री गौरव गोला, श्री विपिन व्यास, श्री एन. एल. शर्मा, श्री जेपी सारस्वत, श्री मनसुख सिंह, श्री प्रेम सिंह, श्री अमित नेहुलकर, श्री कृष्ण सरस, प्रवाल कृष्ण, भावना कंसल व अन्य साथीगण आदि उपस्थित थे।

_dsc1659

एक उत्तर दें छोड़ दो

Your email address will not be published. Required fields are marked *