देवोत्थान एकादशी पर तुलसी-सालिगराम विवाह हुआ सम्पन्न

मथुरा /वृन्दावन 2016.11.11 (VT): 11vrnp11ब्रज में देवोत्थान एकादशी एक महत्वपूर्ण उत्सव है। शुक्रवार को प्रातः काल लोगों ने यमुना स्नान कर तीन वनों का परिक्रमा किया। अनेकों लोगों ने वृन्दावन में पंचकोसीय परिक्रमा लगाया।
वृन्दावन के प्राचीन देवालयों मे देवोत्थान एकदशी पर तुलसी महारानी एवं सालिगराम का विवाहोत्सव धूमधाम मनाया गया। उत्सव में स्थानीय भक्तों ने हर्षोल्लास के साथ विवाह संस्कार की पंरपराओं का निर्वाह किया।
ठा. राधादामोर मंदिर एवं राधा श्याम सुन्दर मन्दिर में प्रभु के समक्ष भक्तों द्वारा भव्य मंडप सजाया गया। सुगंधित पुष्पों व रंगबिरंगी रोशनियों से सजा मंडप में गौधूली बेला में तुलसी महारानी का श्रृंगार एवं नवीन पोशाक धारण कराकर प्रभु सालिगराम के साथ विराजमान किया गया।
पंडित ने मंत्रोच्चारों के मध्य विवाह संस्कार किया। इस उत्सव में गणेश पूजन के साथ ही सभी देवताओं का आहवान किया गया। देशी-विदेशी भक्तों ने पुष्म वर्षा कर अपने आराध्य के विवाह संस्कार की खुशी मनाई।
तुलसी महारानी के पक्ष की ओर से कन्यादान दिया। भगवान शालिगराम की ओर से महामंत्र एवं भक्ति संगीत की धुनों पर भक्तजनों ने भाव नृत्य किया। यह क्रम देर शाम तक जारी रहा। 11vrnp12
विग्रह में विराजने वाले भगवान सालिगराम व तुलसी के विग्रह की रस्म के तहत गुरुवार को हल्दी व तेल चढ़ाया गया। महिलाओं ने नृत्य गायन कर वातावरण को ब्याह के रंग में रंगा। शुक्रवार को शहनाई बजेगी।
देवोत्थान एकादशी पर श्रीविष्णु के पाताल से वापस आने व दूसरे देवताओं के जगाने की मान्यता है। इसी दिन तुलसी एवं सालिगराम का विवाह होता है। गुरुवार को शहर के हृदय स्थल चौक बाजार में स्थित प्राचीन दाऊजी मंदिर में महंत राकेश कुमार शास्त्री के निर्देशन संग सानिध्य में उत्सव का आगाज हुआ। महिलाओं ने नृत्य गायन कर भगवान संग मैया को प्रसन्न किया। तुलसी और सालिगराम को हल्दी लगा कर तेल चढ़ाया।
अंगिरस सेवा संस्थान के सेवकों ने गुरुवार को सालिगराम जी की धूमधाम से बारात निकाली। अपराह्म में घराती व बाराती गोविंद नगर स्थित अंगिरा धर्मशाला में सज-संवर कर तैयार हो गए। भगवान को दूल्हा बनाया गया। उसके बाद बैंडबाजों की धनी के साथ बारात रवाना हुई व रामलीला ग्राउंड पहुंची। तुलसी-सालिगराम का पाणिग्रहण संस्कार संपन्न हुआ।

एक उत्तर दें छोड़ दो

Your email address will not be published. Required fields are marked *