संतान के लिए दंपतियों ने लगाई आस्था की डुबकी

img-20161024-wa0012राधा कुन्ड, 2016.10.23 (VT):  अहोई अष्टमी पर राधाकुंड में स्नान को आस्था का सागर उमड़ पड़ा। मेले में देश-विदेश से लाखों भक्तों ने हिस्सा लिया। दंपतियों ने जल स्वरुपा राधारानी के दरबार में आंचल फैलाकर राधाकुंड में शनिवार एवं रविवार अर्द्धरात्रि को आस्था की डुबकी लगाई।
शाम चार बजे से राधाकुंड पर अहोई माता की पूजा करने के लिए दंपतियों की भीड़ जमा हो गई। भक्तों ने राधारानी कुंड की परिक्रमा लगाई। रात 8 बजे से भक्तों का कारवां राधाकुंड के घाटों पर जमा हो गया। रात 12 बजने का समय नजदीक आते ही श्रद्धालु स्नान करने के लिए कुंड की ओर पहुंच गए। पति-पत्नियों ने एक- दूसरे का हाथ पकड़कर पवित्र कुंड में डुबकी लगाई और संतान प्राप्ति की कामना की।
राधारानी के रुठने और कृष्ण की मनुहार की कहानी बयां करता ब्रज का राधारानी कंुड। राधाजी ने इसे अपने कंगन से बनाया था। श्रीकृष्ण के वरदान से इस कुंड में सभी तीर्थे का वास माना जाता है। अहोई अष्टमी को ही श्री राधा कुन्ड का प्राकट्य हुआ था।
श्रीधाम राधाकुंड में अहोई अष्ठमी पर आस्था और श्रद्धा का सैलाव उमड़ पडा़। संतान प्राप्ति की कामना के साथ लाखों दंपतियों ने राधा-कृष्ण कुंड के संगम में रात 12 बजे डुबकी लगाई। तीन लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने स्नान कर अपनी आराध्या श्रीजी की पूजा-अर्चना की।
संतान प्राप्ति की इच्छा लेकर आए दंपतियों ने पैठा फल का कुंड में दान कर स्नान किया। शनिवार की रात 12 बजे से शुरु हुआ महास्नान रविवार को तड़के चार बजे तक चलता रहा। img-20161024-wa0011
इसके बाद भीड़ का दबाब एसडीएम एमपी सिंह, सहओ अजय कुमार विधयक राजकुमार रावत, नगर पंचायत चेयरमैन के प्रतिनिधि दाऊजी ठेकेदार, विद्युत निगम के अधिकारी राजीव कालरा, सुखवीर सिंह, प्रहलाद जोशी, विष्णु रावत, दानी शर्मा, भोला दुबे आदि व्यवस्थाओं पर नजर रखे रहे। राधारानी संगम मार्ग से यात्रियों को तीन चक्र में कुंड में स्नान करने के लिए भेजा गया। घाटोें पर विशेष निगरानी रखी गई।
पश्चिम बंगाल सोंतपुर निवासी अनुराधा दासी, कोलकाता निवासी मोनादासी पति गोपाल दास, पलवल निवासी बबली शर्मा पति सरेन्द्र शर्मा व पिंकी पति ललित की आखों में राधाकुंड के स्नान के विश्वास की चमक साफ दिखाई दे रही थी। सभी ने राधारानी से अपने कुल को आगे बढ़ाने के लिए मन्नतें मांगीं और कुंड में स्नान किया। भारी तादाद में भक्तों ने पेठा न खाने का भी संकल्प लिया। इस मौके पर चेयरमैन प्रेमवती देवी, दाऊजी ठेकेदार , ईओ राम आसरे आदि लोगों का सहयोग रहा।

एक उत्तर दें छोड़ दो

Your email address will not be published. Required fields are marked *