ब्रज के प्राचीन कुंडों का होगा जीर्णोद्धार

मथुरा, 2016.10.01 (VT): img_8523 ब्रज की प्राचीन संस्कृति की पहचान को समाहित किए ऐतिहासिक कुंडों के जीर्णोद्धार के लिए राज्य योजना के अतंर्गत 10 प्राचीन कुंडों के जीर्णोद्धार के लिए 5 करोड़ रुपये की धनराशि स्वीकृत की है। उप्र शासन के उपसचित शिवकुमार पाठक ने इस संबंध में पत्र जारी कर दिया है।
उक्त धनराशि मिलने के बाद इन सभी कुंडों में जीर्णोद्धार कार्य में तेजी आएगी। वहीं इससे इनका कायाकल्प हो जाएगा।
ब्रज के कुल 50 ऐतिहासिक कुंडों की जीर्णोद्धार योजना को कार्यदायी संस्था उप्र प्रोजेक्ट कॉरपोरेशन ने डीपीआर तैयार की थी। इसके परीक्षण के बाद चार नवंबर 2015 को 12 करोड़ आठ लाख रुपये की कार्ययोजना स्वीकृत हुई थी। पहले चरण में इसकी पहले किश्त के रुप में एक करोड़ 84 लाख रुपये मंजूर किए गये थे। इसके बाद दूसरी किश्त के रुप में चार करोड़ रुपये भेजे गए थे। हालांकि इसके बाद कुछ स्थानों पर बरसात और फंड की कमी से काम बाधित हुआ था।
दूसरे चरण में 50 में से 10 कंुडों को अब शासन ने पांच करोड़ रुपये कि किश्त जारी कर दी है। पर्यटन अधिकारी नियमित रुप से इस योजना का अनुश्रवण करेंगे। भौतिक प्रगति की सूचना पर्यटन निदेशालय एवं शासन को उपलब्ध कराया जाएगा।
उप सचिव के भेजे गये पत्र के अनुसार कोसी स्थित रत्नासागर कुंड, खायरा स्थित संगम कुन्ड, रिठौरा स्थित चन्द्रावलीकुंड, गोवर्धन स्थित ब्रह्मकुंड, नन्द गांव स्थित मालाधारी कृष्ण कुंड, बलदेव का क्षीरसागर कुंड, लोहवन स्थित कृष्ण कुंड, गणेसरा स्थित गंधर्व कुंड, मोतीझील कुंड, गांव बाटी स्थित बहुलावन कुंड का जीर्णोद्धार किया जायेगा। अन्य शर्तों के साथ इस परियोजना में यह भी कहा गया है कि जीर्णोद्धार किये जाने वाले कुन्डों की भूमि निर्विवाद होना अति आवश्यक है।

एक उत्तर दें छोड़ दो

Your email address will not be published. Required fields are marked *