वर्षा के लिए तप पर बैठीं दो कन्याएं

नौहझील,2014.07.16(DJ) मानसून के आने के कारण पूरे जनपद में हाहाकार मचा हुआ है। आम जनमानस के साथ किसान एवं पशु पक्षी भी कराह उठे है। ऐसे में इंन्द्रदेव को प्रसन्न करने के लिये अनेक उपाय किये जा रहे हैं।

नौहझील में भी कुछ इसी तरह का अनुष्ठान दो बालिकाओं के द्वारा किया जा रहा हैै। इंद्र देवता को प्रसन्न करने के लिए दोनों कन्याएं तप पर बैठ गई हैं। ग्रामीण भी तप को सफल बनाने के लिए लोक गीत गाकर कन्याओं का सहयोग कर रहे हैं। उम्मीद है कि भगवान तप से खुश होकर वर्षा कर दें।

नौहझील क्षेत्र पहले से ही डार्क जोन घोषित है। सूखा पड़ने से समस्या और गंभीर हो गई। लोग रोजाना आसमान की तरफ देखते हैं लेकिन बादलों का कहीं नामो निशान नहीं मिलता। सूर्य की प्रकंड गर्मी हाल बेहाल कर रही है। भयंकर सूखा की मार से परेशान ग्रामीण अब दैवीय सहायता की ओर आस लगाए बैठे हैं। क्षेत्र के गांव मुवारिकपुर में अपने आसपास आग की धूनी लगाकर तप पर बैठ गई हैं।

दुष्यंतवती पुत्री बिजेंद्र सिंह और भूरी पुत्री करुआ दोनों कन्याएं इन्द्रदेव को प्रसन्न करने के लिए रविवार से तप पर बैठी हैं। कन्याएं इन्द्र का आह्वान कर वर्षा के लिए उनका जाप कर रही हैं। गांव वाले पास में ही बैठकर ढोल मंजीरा और ढोलक की थाप पर बृज के लोक गीत गा रहे हैंए प्यारा.प्यारा देश हमारा भ्रमर करें गुलजारए जिन क्षेत्र में सूखा परि गई तपसी तपें हजार। तप रहीं कन्या कुंवारीए लगाये के बैठी तारी जैसे लोकगीत गाकर इन्द्र को प्रसन्न करने का प्रयास कर रहे हैं। क्षेत्र में अभी तक एक भी बारिश नहीं हुई है। जिससे मनुष्य ही नहीं अपितु पशु.पक्षी भी पीने के पानी के लिए बेहाल हैं। कन्याओं का कहना है कि वर्षा न होने तक तप जारी रहेगा।

एक उत्तर दें छोड़ दो

Your email address will not be published. Required fields are marked *