रुद्र कुण्ड का लौटेगा गौरवशाली वैभव

>वृंदावन,20.07.26(VT) विगत कुछ वर्षो से रुद्र कुंड जो कि ब्रज के सबसे प्राचीन कुण्डों में से एक हैए कि हालत कुछ समय पूर्व तक काफी दयनीय थी । अपनी खराब हालत के कारण यह कुछ समय से सबकी उपेक्षा झेल रहा था।

इस कुण्ड को 1945 में पुनर्निमित किया गया था। अवैध निर्माण गंदे पानी के भराव एवं कचरें के ढेर के कारण यह कुण्ड अपने को उपेक्षित महसूस कर रहा ब्रज के विकास को समर्पित ब्रज फांउडेशन के प्रयासों से यह एक वार फिर अपने गौरवशाली वैभव को प्राप्त कर पायेगा।
2006 की रुद्र यात्रा के दौरान ब्रज फाउडेशन के वास्तुकारों और इंजीनियरों ने हिन्दू ग्रंथो से लिये गये रुद्र यंत्र के आधार पर कुण्ड के लिये डिजायन तैयार किया था। डिजायन तैयार करने के बाद कुण्ड की खुदाई का कार्य किया गया जिसमें महिनों का समय लगा। 2.5 एकड साइट की खुदाई करने में महीनों का समय लग गया । जतीपुरा में स्थित इस कुण्ड में जमा गंदे पानी ने इस कुण्ड की हालत को बेकार कर दिया था। लेकिन फांउडेशन के अध्यक्ष विनीत आरायण के प्रयासों से उसे खाली कराया गया । जिला प्रशासन से धन जारी कराने के लिये उन्होंने अपने मित्र सांसद एचण्केण्दुआ को राजी किया।

वर्तमान में कुण्ड के पानी की लाइनों का कार्य पूरा हो चुका है। कुण्ड के नवीकरण के लिये चारो दिशाओं में संगमरमर से बने सेलह कुण्ड बनाये थे। इन कुण्डों को पानी के पाइप लाइनो से जोडा जायेगा फिर इन चारों कुण्को को मुख्य कुण्ड से जोडा जायेगा। यह कुण्ड के सौन्द्रयीकरण को बढाने का कार्य करेगा। कुण्ड की सुंदरता गोवर्धन की परिक्रमा दे रहे यात्रियों को अपनी और आकृशित करेगी। इसके अलावा 1.5 मीटर का रास्ता भी टेंक के आसपास बनाया जा रहा है।

क्ुण्ड की दीवारे काफी प्रचीन है जोकि उचित दखभाल न होने के कारण खराब हो गयी ब्रज फांउडेशन के द्वारा इन दीवारों की मरमत करवाने का कार्य किया है।ब्रज फाउडेशन इन दीवारो पर भगवान श्रीकृष्ण के चित्रों को भी बनवायेगा। इस कुण्ड की सजावट के लिये अनेक पेड़ एवं सजावटी प्रकाश की व्यवस्था भी की जा रही है। मैदान की लैंडस्केपिंग भी पूरा हो चुका है और भूमिगत सिंचाई पाइप लाइन इन बागानों में लगाया गया है कि पेड़ों और हरियाली के लिए एक साल के दौर में पानी की आपूर्ति प्रदान करने के लिए रखीण् भूमिगत बिजली के तारों सजावटी प्रकाश व्यवस्था के साथ यह रोशन टैंक के अंदर फिट किया गया है।

दुर्भाग्य से कुछ अवैध निर्माण अभी भी कुंड के दोनों तरफ मौजूद हैं। इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने पहले उन्हें हटाने के लिए जिला प्रशासन को आदेश दिए थे वर्तमान मथुरा जिला मजिस्ट्रेटए बी चंद्रकला ने तुरंत इन अवैध निर्माणों को साफ करने के लिए अधीनस्थ अधिकारियों को निर्देश दिया हैण् वृन्दावन में भी ब्रज फांउडेशन ने ब्रह्य कुण्ड का निर्माण कराया है।

ब्रज फाउंडेशन के परियोजना निदेशक श्री आरण्केण् गौतम के अनुसार यदि डीएम के वादे के अनुसार इन अवैध निर्माणों को जल्द हटा दिया तो आगामी कार्तिक माह तक रुद्रकुण्ड चालू हो जायेगा। कुण्ड की संुदरता को देखकर जतीपुरा के निवासीयों के साथ साथ गोवर्धन परिक्रमा करने आने वाले तीर्थ यात्रीयों को भी खुशी हो रही है।

एक उत्तर दें छोड़ दो

Your email address will not be published. Required fields are marked *