मानसीगंगा में मर रही मछलियां

गोवर्धन मानसीगंगा के शुद्धीकरण के नाम पर बहाये गये करोड़ों रूपये के बावजूद पानी की गुणवत्ता में सुधार नहीं हुआ, अब वह और जहरीला होता जा रहा है। मानसीगंगा के अंदर लाखों रूपये की कीमत का एयर एयरीएशन प्रोजेक्ट लगाया गया है, इसके बावजूद मानसीगंगा में सैकड़ों मछलियां तड़प तड़प कर मर रही हैं।

शुद्धीकरण के नाम पर मानसीगंगा को दो बार खाली कराया जा चुका है, लेकिन पानी साफ नहीं हो पाया। रविवार को प्रदूषित जल के कारण मानसीगंगा में मछलियों ने तड़प तड़प कर दम तोड़ दिया। मानसीगंगा का जल स्नान व आचमन के योग्य नहीं रह गया है।

स्थानीय लोगों के अनुसार मरी पड़ी मछलियों के कारण आसपास के क्षेत्र में बदबू फैल रही है। संक्रामक रोग फैलने का खतरा बड़ गया है। जल निगम व नगर पंचायत गोवर्धन ने मृत पड़ी मछलियों को निकालने की कोई व्यवस्था नहीं की है। मानसीगंगा की बदहाल स्थिति को देखकर स्थानीय लोगों में रोष व्याप्त है।

एक उत्तर दें छोड़ दो

Your email address will not be published. Required fields are marked *