मुड़िया मेला: बनने लगा माहौल, इंतजाम बेहाल

गोवर्धन: बृज की पावन धरा पर लगने वाले मुड़िया पूर्णिमा मेला में श्रद्धालुओं का आना प्रारंभ हो गया है। शनिवार से श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ने की उम्मीद है। मगर व्यवस्थायें माहौल से मेल नहीं कर पा रही हैं।

बारिश से कच्चे परिक्रमा मार्ग में कई जगह दलदल की स्थिति बन गई है। मानसीगंगा के घाटों पर पर्याप्त रोशनी के प्रबंध नहीं है। राधाकुंड में लगे करीब आधा दर्जन हाईमास्टलाइटें भी रोशनी की स्थिति में नहीं आ पायी हैं। सुरक्षा की दृष्टि से भिखारियों को मेला क्षेत्र से बाहर कर दिया जाता है, लेकिन परिक्रमा मार्ग में भिखारियों की लंबी कतारें नजर आ रही हैं।

सहयोग करेगी जनता पुलिस

श्रद्धालुओं के सहयोग के लिऐ क्षेत्र के वाशिंदे सैकड़ों की तादाद में उठ खड़े हुये। आइपीएस वैभव कृष्ण की पहल पर तीर्थ विकास ट्रस्ट में बुलायी बैठक में ग्रामीणों ने सहयोग का वादा किया। सहयोग करने वालों का फोटोयुक्त आइकार्ड बनवाया गया। उन्हें जिम्मेदारी समझायी गयी। गुरुवार से जनता सक्रिय हो जायेगी।

डीआरएम ने देखे रेलवे के इंतजाम

मथुरा: मुड़िया पूर्णिमा मेले के लिए बुधवार को अधिकारी जनपद की ओर दौड़ पड़े। रेलवे के डीआरएम ने मथुरा जंक्शन रेलवे स्टेशन की तैयारियां देखीं। वहीं रोडवेज के आरएम ने मथुरा डिपो पहुंच कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। डीआरएम विजय सहगल ने प्लेटफार्म संख्या एक, दो और तीन पर सफाई और अन्य व्यवस्थाएं देखीं। टिकट घर के सामने छत पर लगे मकड़ी के जालों को देख गुस्सा जताया। उन्होंने प्लेटफार्म संख्या दो पर चल रहे वाशिंग एप्रिन के कार्य को मेले से पूर्व पूरा कराने के अधिकारियों को आदेश दिए। निरीक्षण से पूर्व डीआरएम ने सीनियर डीसीएम अनुमणि त्रिपाठी और अन्य स्थानीय अधिकारियों के साथ बैठक कर मेले की तैयारियों का भी जायजा लिया। वहीं रोडवेज के क्षेत्रीय प्रबंधक नीरज सक्सेना ने भी बुधवार को मथुरा वर्कशॉप का निरीक्षण किया। इस दौरान एआरएम अतुल श्रोतिय और सेवा प्रबंधक रविन्द्र सिंह भी उपस्थित रहे।

ये रूट होगा यातायात का

नेशनल हाइवे के गोवर्धन चौराहे से सभी वाहन जाएंगे गोवर्धन।

श्रीजी बाबा स्कूल पर बैरियर पर जुगाड़, ट्रक और ट्रैक्टर रोक दिए जाएंगे। प्राइवेट, रोडवेज बसें और छोटी गाड़ियां ही आगे जा सकेंगी।

जमुनावता चौराहे पर प्राइवेट बसें और पशुपेैठ पर छोटे वाहन होंगे पार्क। रोडवेज की बसें नहीं रोकी जायेंगी।

रोडवेज की बसें गोवर्धन से सौंख रोड होते हुए मथुरा के लिए आएंगी नेशनल हाईवे पर।

भरतपुर से आने वाले वाहन जाजनपट्टी पर बैरियर लगाकर सौंख की तरफ जाने से रोक दिये जायेंगे। वह हाईवे पर होते हुए गोवर्धन चौराहे से ही अंदर जा सकेंगे।

कुम्हेर रोड से आने वाले बड़े वाहनों को सौंख चौराहे पर रोक दिया जाएगा। छोटे वाहन महमदपुर व गोशाला पार्किंग तक जाएंगे।

बरसाना रोड से आने वाले वाहनों को नीमगांव पर रोक दिया जाएगा और वहीं पार्किंग बनायी गयी है।

देवसेरस की तरफ से आने वाले वाहनों को तिराहे पर रोक दिया जाएगा।

डीग रोड से आने वाले बड़े वाहनों को मंडी समिति में पार्क किया जाएगा। छोटे वाहन सियाराम बाबा के आश्रम पर बनी पार्किंग तक जाएंगे।

छटीकरा की तरफ से जाने वाले वाहनों को राधाकुंड बैरियर पर रोक कर गौड़ स्कूल के पास पार्किंग में खड़ा कराया जाएगा।

मुड़िया पूर्णिमा मेला को सकुशल सम्पन्न कराने के लिए गुरुवार की शाम तक आगरा, अलीगढ़ और कानपुर रेंज से फोर्स आ जाएगा। सुरक्षा के लिहाज से मेला में 3 एसपी, 24 डिप्टी एसपी, 24 इंस्पेक्टर, 150 सब इंस्पेक्टर, 125 हैड कांस्टेबिल, 1000 कांस्टेबिल, 14 महिला सब इंस्पेक्टर, 100 महिला कांस्टेबिल, 16 टीएसआइ, 21 ट्रैफिक हैड कांस्टेबिल, 75 ट्रैफिक कांस्टेबिल, 20 घुड़सवार, 2 प्लाटून फ्लड पीएसी, 8 कंपनी पीएससी, 5 फायर टेण्डर, 5 क्रेन की मांग दूसरों जिलों से की गई हैं। बुधवार शाम तक डिमांड के अनुसार फोर्स का आवंटन नहीं हुआ था।

यातायात-रोडवेज

गोवर्धन क्षेत्र को बांटा चार जोन में मुस्तैद रहेंगे आरएम सहित नौ एआरएम गोवर्धन बस अड्डे पर एक टीएस और 20 कर्मियों की तैनाती। यह कर्मी तीन जुलाई तक रहेंगे।

चार चेक पोस्ट- श्रीजी बाबा स्कूल, अड़ीग, गोवर्धन और सौंख पर। यहां पर बसों की मरम्मत के लिए तो टीम रहेगी ही, विशेष स्थितियों के लिए क्रेन भी रहेगी।

जेनर्म की 60 बसों को 2 और 3 जुलाई को गोवर्धन का एक टिप हर रोज लगाना अनिवार्य होगा।

मानसी गंगा

कुंड में कोई स्नान न करे, यहां पर बेरीकेडिंग लगा दी जाती हैं। बाहर लगे फुब्बारों के लिए जनरेटर से बिजली की वैकल्पिक की जाती है।

विगत में जनरेटर भी फेल हो चुके हैं। श्रद्धालुओं का रैला कुंड में स्नान करता है और अनहोनी की आशंका रहती है।

इंतजाम

किसी कारणवश बिजली न हो तो जनरेटर हर हाल में कारगर साबित हों। ताकि श्रद्धालु फुब्बारे से ही स्नान कर सकें।

परिक्रमा मार्ग

रास्ते में पड़ने वाले कुछ मंदिर लाउडस्पीकरों से एनाउंस करते हैं कि इस मंदिर की परिक्रमा बगैर आपकी परिक्रमा सात कोस के बजाय साढ़े छह कोस की रह जायेगी। मकसद साफ है चढ़ावे का। श्रद्धालुओं का रैला वहीं से मंदिर की परिक्रमा देने लगता और फिर आपाधापी होने लगती है।

इंतजाम

ऐसे लाउडस्पीकरों पर रोक लगनी चाहिये ताकि श्रद्धालु भ्रमित न हों। परिक्रमा मार्ग में डीजे पर रोक पर सख्ती से अमल हो।

रोडवेज की ये खबर जरूरत हो तो यूज की जा सकती है

यहां तैनात रहेंगे अधिकारी

गोवर्धन बस अड्डे पर मेरठ के एआरएम बीपी अग्रवाल और बाह के एआरएम राजीव शर्मा।

श्री जी चैक पोस्ट पर आगरा क्षेत्रीय प्रबंधक कार्यालय के एआरएम वित्त ललित राजवंशी देखेंगे।

अड़ीग से गोवर्धन तक रोडवेज बसों का आवागमन एआरएम शिकोहाबाद मदन लाल के जिम्मे।

सौंख तिराहा पर आगरा के एआरएम अनिल कुमार देखेंगे।

सौंख तिराहा से सौंख तक रोडवेज संचालन की जिम्मेदारी आगरा के एआरएम एके दास के जिम्मे।

सौंख से मथुरा तक रोडवेज बसों के संचालन इटावा के उत्तम चंद संभालेंगे।

मथुरा जंक्शन पर रोडवेज बसों का संचालन हाथरस के एआरएम गोपाल शर्मा करायेंगे।

मथुरा कर्मशाला की देखरेख औरेया के एआरएम विनोद कुमार करेंगे।

पूरे नेटवर्क को मथुरा एआरएम अतुल श्रोत्रिय कंट्रोल करेंगे ।

सेवा प्रबंधक रविन्द्र सिंह बसों की मरम्मत के लिए स्पेयर पार्ट्स की व्यवस्था देखेंगे।

दो और तीन जुलाई को आरएम नीरज सक्सेना गोवर्धन में मौजूद रहेंगे।

एक उत्तर दें छोड़ दो

Your email address will not be published. Required fields are marked *