आज वृन्दावन आएगा श्रीजी महाराज का अस्थिकलश

 वृन्दावन, 2017.01.18 (VT):  जगदगुरु निम्बार्काचार्य पीठाधीश्वर श्रीजी महाराज का अस्थि कलश राजस्थान स्थित सलेमाबाद से आज वृन्दावन आएगा। अस्थि कलश के साथ युवाचार्य श्यामशण देव महाराज आ रहें हैं। नगर में संत, महंतों के सानिध्य में श्रीजी महाराज की अस्थि कलश यात्रा बुधवार को दोपहर दो बजे से श्रीजी मंदिर से शुरु होगी। कलश यात्रा की … [आगे पढ़ें...]

अब पुलिस करेगाी वृन्दावन में कूड़ा जलाने वालों की निगरानी

20161219_112045

वृन्दावन, 2017.01.17 (VT):   वृन्दावन में कूड़ा निस्तारण को लेकर कोर्ट कमिश्नर द्वारा नगर के निरीक्षण करने की संभावना से नगरपालिका पालिका हरकत में आ गयी है। एनजीटी के आदेश पर लोकल कमिश्नर ने 26 मार्च 2016 को नगर में निरीक्षण किया था। निरीक्षण के दौरान पाया गया कि श्रृंगारवट, वंशीवट, हरमिलाप पार्किंग, परिक्रमा मार्ग आदि स्थानो में खुले में … [आगे पढ़ें...]

कुसुम सरोवर नए कलेवर में नजर आएगा

IMG_8523

गोवर्धन, 2017.01.14 (VT):  बहुत जल्द सरोवर नए कलेवर में नजर आएगा। श्री गिरिराज महाराज की सात कोसीय परिक्रमा मार्ग में खूबसूरती समेटे कुसुम सरोवर के सौंदर्यीकरण कार्य का अंतिम चरण चल रहा है। शुक्रवार को पुरातत्व विभाग के अधिकारियों ने कार्य का निरीक्षण कर तेजी लाने के निर्देश दिए। पुरातत्व विभाग के अन्वेषण अधिकारी रामविनय ने सरोवर स्थित … [आगे पढ़ें...]

जगदगुरु निम्बार्काचार्य श्रीजी महाराज के गोलोक वास से संपूर्ण ब्रज मंडल शोक मग्न

16003263_1177645548998213_1572071944201654251_n

वृन्दावन, 2017.01.14 (VT):  जगदगुरु निम्बार्काचार्य श्रीजी महाराज के गोलोकवास से सम्पूर्ण ब्रज मंडल शोक मग्न हो गया। मकर संक्रान्ति के दिन उनका निधन राजस्थान के पुस्कर क्षेत्र सलेमाबाद स्थित निम्बार्काचार्य पीठ में हुआ। गोलोक वास के समय उनकी अवस्था 89 वर्ष की थी। उनके गोलोकवास से देश-विदेश में निम्बार्क अनुयायी और भक्तों में शोक छा गया। … [आगे पढ़ें...]

ईटों से लदी हुयी टैक्टर ट्राली ने विदेशी महिला को कुचला

IMG-20170109-WA0000

वृन्दावन, 2017.01.09 (VT): सुनरख मार्ग पर ईटों से भरे अनियंत्रित टैक्टर ने गौ भक्त एक आस्ट्रेलियन महिला को कुचल दिया। जिससे उसकी मौके पर ही मृत्यु हो गयी।                                                                                                                                           विदेशी महिला भक्त शारने एन ट्यूट 55 आस्टेलिया … [आगे पढ़ें...]

वृन्दावन में वैकुंठ का द्वार खुला, भक्तों की भीड़ उमड़ी

20170108_055857

वृन्दावन, 2017.01.08 (VT) धर्नुमास महोत्सव में वैकुंठ एकादशी पर रंगजी मंदिर में भगवान गोदारंगमन्नार ने बैंकुठ द्वार से निकल कर भक्तों को दर्शन दिए। सर्द मौसम में भी वैकुंठ द्वार से निकलने के लिये श्रद्धालु सुबह चार बजे से ही मन्दिर परिसर में एकत्रित हो गए। प्रभु के दर्शनों को भोर से ही लालायित भक्तों में दर्शन करने के लिए होड़ सी मच गई। … [आगे पढ़ें...]

वृन्दावन के प्राचीन सप्तदेवालयों में खिचड़ी महोत्सव जारी

img-20170105-wa00011

वृन्दावन, 2016.01.08 (VT):  वृन्दावनके प्राचीन सप्तदेवालयों में खिचड़ी महोत्सव मनाया जा रहा है। ठा. राधारमणमंदिर में राग सेवा व अंगीठी सेवा के बीच खिचड़ी महोत्सव धूमधाम से मनाया जा रहा है। मंदिर के सेवायत सर्दियों के पकवानों के भोग प्रभु के समक्ष सेवित कर रहे है। वहीं प्रातः मेवाओं की खिचड़ी सेवित की जा रही है। ठा. श्री राधा श्याम सुन्दर … [आगे पढ़ें...]

सपेरा जाति के अभावग्रस्त परिवारों के 200 बच्चों को गोद लिया

dscn5965

वृन्दावन, 2017.01.02 (VT): अपने जन्मोत्सव पर साध्वी ऋतंभरा ने मथुरा-वृन्दावन क्षेत्र के सपेरा जाति के अभावग्रस्त परिवारों के 200 बच्चों को गोद लिया है। इससे उनकी शिक्षा दीक्षा भोजन, वस्त्र, आवास की व्यवस्था वात्सल्य ग्राम की ओर से निःशुल्क रहेगी। साध्वी ऋतम्भरा बच्चों को शिक्षित कर उनके परिवारों को सौप देंगी। बच्चो के निवास को वात्सल्य … [आगे पढ़ें...]

अर्द्ध चंद्राकार पुल के पिलर हटाने का काम शुरू

_mgl1014

वृन्दावन, 2017.01.03 (VT): हजारों यमुना भक्तों ने मंगलवार को तब राहत की सांस ली जब केसीघाट में यमुना संचरण क्षेत्र में अध बने अर्धचन्द्राकार पुल के खंभों को तोड़ने का कार्य आरम्भ हुआ। अधूरे अर्द्धचंन्द्राकार पुल के खम्भों को तोड़ने के लिए प्रदेश सरकार की कैबिनेट में विगत वर्ष सितंबर में फैसला लिया गया था। बसपा शासन काल में शुरू हुए … [आगे पढ़ें...]

नव वर्ष के अवसर पर भारतीय सांस्कृतिक नृत्य देख पाश्चात्य विद्यार्थी हुए मंत्र मुग्ध

jeva-2

वृन्दावन,(VT): 2017.01.01  नव वर्ष के अवसर पर जीवा इंस्टीट्यूट के महंत डा. सत्यनारायण दास जी महाराज के सानिध्य में विदेशी छात्र छात्राओं ने भारतीय सांस्कृतिक ओड़िसी नृत्य का आनन्द लिया एवं इस कला को जाना। वेणुनाद कला केंद्र ने किया नृत्य कार्यशाला का आयोजन किया। भारतीय संस्कृति और सभ्यता के साथ सनातन हिंदू धर्म की विशेषताओं को और अधिक … [आगे पढ़ें...]